Month: January 2021

तन की सफाई-विजय सिंह नीलकण्ठतन की सफाई-विजय सिंह नीलकण्ठ

तन की सफाई  तन के अंगों की साफ सफाई जन जीवन की दिनचर्या हो स्वस्थ निरोग शरीर रहेगा कोई बीमारी कभी न हो। पग से लेकर शीश तलक हर अंग उपयोगी होते हैं बिना किसी एक अंग के मानव दिव्यांग बन जाते हैं। हर कार्य के लिए हर अंग बना पर काज बहुत हाथों से […][...]

READ MOREREAD MORE

मेरी प्यारी बटिया रानी-रीना कुमारीमेरी प्यारी बटिया रानी-रीना कुमारी

मेरी प्यारी बटिया रानी ओ! मेरी प्यारी बिटिया रानी, तुम तो मेरी राजदुलारी हो। पापा की तुम प्यारी बिटिया, घर की तुम शोभा न्यारी हो। तुम तो हो परियों की रानी, तुम तो मेरी राज कुमारी हो। बनोगी जिस घर की महारानी, अभी तो तुम लाज हमारी हो। ओ! मेरी प्यारी बिटिया रानी, तुम तो […][...]

READ MOREREAD MORE

भारत महान-जैनेन्द्र प्रसाद रविभारत महान-जैनेन्द्र प्रसाद रवि

भारत महान हमारा भारत देश महान है, हमें तिरंगे पर अभिमान है। उत्तर में है खड़ा हिमालय, घर-घर मंदिर और शिवालय। तीन ओर से अंक में लेकर, सागर करता गुणगान है। दक्षिण में है कन्या कुमारी, उत्तर स्वर्ग सी काश्मीर हमारी। पूरब से पश्चिम तक फैली, अपनी धरती, आसमान है। भारत का है शान तिरंगा, […][...]

READ MOREREAD MORE

समय-प्रियंका कुमारीसमय-प्रियंका कुमारी

समय समय सबसे कहता, मैं हूं बड़ा बलवान। मुझे कोई पकड़ न पाता,  मेरा न कोई अपना पराया होता,  लौटकर भी मैं कभी न आता,  मैं निरंतर चलते रहता,  मेरे महत्व को जो समझे,  मैं हमेशा उसका साथ देता,  समय सबसे कहता,  मैं हूं बड़ा बलवान। अगर जीवन में आगे बढ़ना है,  करना है तुम्हें […][...]

READ MOREREAD MORE

सफलता का मुकाम-नूतन कुमारीसफलता का मुकाम-नूतन कुमारी

सफलता का मुकाम परिस्थितियां अनुकूल न हो तो, कुछ पा लेना आसान नहीं, गर मिल जाए जो, आसानी से, है वह कोई बेहतर मुकाम नहीं। लेखा-जोखा सब छोड़ यहाँ, मंजिल की ओर तू कदम बढ़ा, जीवन के चंद लम्हों में तू, सफलता का इतिहास गढ़ा। निष्क्रियता को मन से त्याग कर, हो सशक्त, सुंदर आगाज […][...]

READ MOREREAD MORE

आओ ये संदेश सुनाएँ-प्रकाश प्रभात आओ ये संदेश सुनाएँ-प्रकाश प्रभात 

आओ ये संदेश सुनाएँ हरित एवं स्वच्छ ऊर्जा अपनाएँ, आओ हम मिलकर ईंधन बचाएँ। जैव ईंधन पर निर्भरता कराएँ, आओ स्वच्छ वातावरण बनाएँ। एलपीजी को सशक्त बनाएँ , आओ इसकी महत्ता बताएँ। प्रदूषण मुक्त भारत बनाएँ , आओ घर-घर गैस जलाएँ। रसायन रहित कृषि अपनाएँ, फसल नष्ट होने से बचाएँ। जैविक खेती को अपनाएँ, आओ […][...]

READ MOREREAD MORE

नदारद-मनोज कुमार पांडेयनदारद-मनोज कुमार पांडेय

 नदारद आया दौर फ्लैट कल्चर का, देहरी, आंगन, धूप नदारद। हर छत पर पानी की टंकी, ताल, तलैया, कूप नदारद।। पैकिंग वाले चावल, दालें, डलिया, चलनी, सूप नदारद।। बढ़ीं गाड़ियां, जगह कम पड़ी, सड़कों के फुटपाथ नदारद। मोबाइल पर चैटिंग चालू, यार-दोस्त का साथ नदारद। बाथरूम, शौचालय घर में, कुआं, पोखरा ताल नदारद।। हरियाली का […][...]

READ MOREREAD MORE

आओ ईश्वर का धन्यवाद करें-मधु कुमारीआओ ईश्वर का धन्यवाद करें-मधु कुमारी

आओ ईश्वर का धन्यवाद करें आओ ईश्वर का धन्यवाद करें उनका स्नेह पूर्ण गुणगान करें जिसने दिया हमें जीवन अनमोल जिसका नहीं चुका सकते हम मोल। बस एक नेक काम कर जाएं सत्कर्म में इसे लगाएं देवालय बने यह दिव्य काया न रहे कोई लोभ व कोई माया जितना हो सके कर्मदान करें आओ ईश्वर […][...]

READ MOREREAD MORE

हे नूतनवर्ष-मनु कुमारीहे नूतनवर्ष-मनु कुमारी

हे नूतनवर्ष हे! पावन, मधुरम, मंगलकारिणी नूतनवर्ष, करते हैं हम सभी आपका हृदय से स्वागत। तुम आए हो, सभी के मन में, एक नयी सुबह लेकर। दुखों के बादल को चीरकर। निराशाओं को पीछे छोड़। एक सुखमयी आशाओं, उम्मीदों की डोर लेकर। आखिरी साँस गिनते हुए मरीज के लिए, जीवन का वरदान लेकर। तुम्हारा करते […][...]

READ MOREREAD MORE

स्वच्छता है अच्छी आदतें- नरेश कुमार ‘निराला’स्वच्छता है अच्छी आदतें- नरेश कुमार ‘निराला’

स्वच्छता है अच्छी आदतें आओ प्यारे हम सब मिलकर स्वच्छता पर कुछ काम करें, वातावरण को शुद्ध बनाकर विश्व में भारत का नाम करें। गाँव-गाँव और टोले-मुहल्ले में स्वच्छता का हम अलख जगायें, ईधर-उधर न कोई फेंके कचड़े सबको ऐसा बात समझायें। नदी-पोखर और ताल-तलैया गंदगी न उसमें जाने पाये, हर दिन नये पेड़ लगाकर […][...]

READ MOREREAD MORE