Prem-पद्यपंकज

हिन्दी हैं हम-अश्मजा प्रियदर्शिनी

हिन्दी हैं हम राजभाषा हिन्दी है हमारे हिंद देश की भाषा। संस्कृति, उत्थान, समृद्धि की है ये प्रत्युषा। अखंडता में एकता की है अद्भुत परिभाषा। हिन्दी भाषा की समृद्धि है…

बौद्धिक विचारों के दूत-सुरेश कुमार गौरव

बौद्धिक विचारों के दूत अनुभव को अपनी अभिव्यक्ति पर पूरा गर्व का यह अवसर है भाषा-शब्द और भावों के मेल से कुछ कहने का सुअवसर है। सृजन हो चाहे किन्हीं…

नन्हा भईया-नूतन कुमारी

  नन्हा भईया एक है मेरा नन्हा भईया, उसके घुंघराले से बाल, छोटे छोटे पैर हैं उसके, चलता वह मतवाली चाल। उसका हँसना और मुस्काना, मन को बहुत लुभाता है,…

सत्य अहिंसा के पुजारी-अशोक कुमार

 अहिंसा के पुजारी गांधी थे पुतलीबाई के संतान, उनको जानता है सारा जहान। सादगी है उनकी पहचान, कर गए काम महान।। गुजरात के पोरबंदर में जन्मे, पुतलीबाई के लाल महान।…

गांधी शिक्षक के मन में हैं-कमलेश कुमार

गांधी शिक्षक के मन में हैं गांधी शिक्षक के मन में हैं। हर शिक्षक के जीवन में हैं। जब सत्य, अहिंसा, कर्मठता का पाठ पढ़ाता है शिक्षक। तब गांधीजी हर…

बेटी-संध्या

बेटी बेटी मेरी प्यारी-सी, अनमोल और न्यारी-सी। मेरी चाहत मेरा प्यार, बेटी मेरी, मेरा अभिमान। बड़े भाग मेरे जो वो मेरे जीवन मे आई, भाग्य बदल गया सौभाग्य में। जब…

SHARE WITH US

Share Your Story on
info@teachersofbihar.org

Recent Post