मोबाइल-मनु कुमारी-पद्यपंकज

मोबाइल-मनु कुमारी

Manu

मोबाइल ( मनहरण घनाक्षरी)

हर पल काम आए,
देख मन झूम जाए,
साथी बन रहे सदा
गम को भगाता है ।

सूचना दे हर घड़ी,
छोटी रहे चाहे बड़ी,
बैठे बैठे विश्व का वो,
सैर भी कराता है ।

ज्ञान भरी बात मिले,
दूर करे सारे गिले,
अकेले पन में भी वो,
खुशी देके जाता है ।

जैसा चाहो वैसा पाओ,
ज्ञान चक्षु खोल आओ,
मनु सांची कहे तब,
यश बढ जाता है।

मनु कुमारी
प्रखण्ड शिक्षिका
मध्य विद्यालय सुरीगाँव ,बायसी
पूर्णियाँ, बिहार।

Leave a Reply

SHARE WITH US

Share Your Story on
info@teachersofbihar.org

Recent Post

%d bloggers like this: