Category: Veer

वीर बांकुड़ा कुंवर सिंह-अपराजिता कुमारीवीर बांकुड़ा कुंवर सिंह-अपराजिता कुमारी

वीर बांकुड़ा कुंवर सिंह आज बिहार के वीर बांकुड़ा का विजयोत्सव सब मिलकर मनाते हैं, वीर बांकुड़ा केसरी कुंवर सिंह की गर्जना को फिर से याद करते हैं। बांध मुरैठा 52 गज का, बदन रोबीला, चौड़ी उनकी पेशानी थी, दया, धर्म, सुयश, की गाथा सबको याद जरूर दिलानी थी। खौल उठी 80 वर्ष में जब […][...]

READ MOREREAD MORE

सम्राट अशोक का मोह भंग-दिलीप कुमार चौधरीसम्राट अशोक का मोह भंग-दिलीप कुमार चौधरी

सम्राट अशोक का मोह भंग अस्ताचल को गया था दिवाकर ; था विराजमान नभ में निशाकर । झिलमिला रहे थे सितारे ; दीपों की लगी थी कतारें । फहरा रही थी मगध-ध्वजा ; सम्राट-शिविर था सजा-धजा । सैनिक थे अपने शिविर में ; मानो शेर हों अपने विविर में । सोच में थे सम्राट व्यथित […][...]

READ MOREREAD MORE

वीर-अवनीश कुमारवीर-अवनीश कुमार

वीर वीर तू आगे बढ़ शत्रु पर वार कर शत्रु छद्मरूप धरे बहुतेरे आलस्य, निद्रा, अहम, वहम छल, द्वेष, पाखंड, झूठ क्रोध, ईर्ष्या, अत्याचार नाम है तेरे इनको तू खुद से उजाड़ दे शोषणकारी को उखाड़ दे वीर तू आगे बढ़ अभिमान का अंत कर वीर तू तेजस बन वीर तू ओजस बन वीर तू […][...]

READ MOREREAD MORE

जय वीर भूमि भारत-मनोज कुमार दुबेजय वीर भूमि भारत-मनोज कुमार दुबे

जय वीर भूमि भारत स्वतंत्रता की खातिर जिसने न सर झुकाया चढ़ कर फाँसी के फंदे पर बागी कहलाया क्या नाम कर गया तू इतिहास ने बताया वो वीर मंगल पांडेय था जो अंग्रेजो से टकराया जय वीर भूमि भारत जय वीर भूमि भारत बंगाल का वो लाल नेता जी जिसको कहते सुभाष चन्द्र बोस […][...]

READ MOREREAD MORE

जय अमर जवान-अश्मजा प्रियदर्शिनीजय अमर जवान-अश्मजा प्रियदर्शिनी

जय अमर जवान शहिदों तुम्हे नमन, मिशाल हैं तेरा समर्पण। स्नेह, करूणा, भक्ति की श्रद्धांजलि तुझे अर्पण। देश-भक्ति में समर्पित अर्पित करते जो प्राण, जिनसे गौरवान्वित होते ये जमीं आसमान। सरहद पर लड़ते मर मिटते राष्ट्र निशान। राष्ट्र के कर्मवीर जय हो हे अमर जवान।। आतंकवाद की डगर पर बना है श्मशान। मेघों से गरजते […][...]

READ MOREREAD MORE

चन्द्रशेखर आजाद- स्वाति सौरभचन्द्रशेखर आजाद- स्वाति सौरभ

चंद्रशेखर आजाद स्वतंत्र भारत का एक स्वतंत्र सेनानी जिसने अंग्रेजों की गुलामी न मानी। अचूक निशानेबाज आजाद करते साथ अध्यापन कार्य सशस्त्र क्रांति का अपनाया मार्ग छोटी उम्र में हुए गिरफ्तार। चन्द्रशेखर बताए नाम आजाद बताया जेल को अपना आवास स्वतंत्रता जिसके पिता का नाम कोड़ों की सजा का हुआ ऐलान। पंद्रह कोड़ों से हुआ […][...]

READ MOREREAD MORE

कैसे हो देश में चैनो अमन-मधुमिताकैसे हो देश में चैनो अमन-मधुमिता

कैसे हो देश में चैनो अमन ऐ वतन ऐ वतन, लहराए तिरंगे संग गगन बच्चे हो या बूढ़े दिखते सभी मगन खिल-खिला उठा हर घर का आंगन कुर्बान हुए शहीदों को हमारा शत-शत नमन जब-जब ये तिरंगा लहराएगा वीर शहीदों की कुर्बानी याद दिलाएगा अपने स्वर्णिम इतिहास को कैसे कोई भुलाएगा? क्या भारत फिर से […][...]

READ MOREREAD MORE

वीर जवान-प्रियंका प्रियावीर जवान-प्रियंका प्रिया

वीर जवान क्या शब्द लिखूं सरहद पर मरने वालों की, जान की बाजी लगाने वाले इन खतरों के खिलाड़ी की। क्या शब्द लिखूं कठिन डगर पे चलने वालों की, मां भारती के लिए सब कुछ लुटाने वालों की। क्या शब्द लिखूं दुश्मन को अपना लोहा मनवाने वालों की, कतरा कतरा लहू का देश पे बहाने […][...]

READ MOREREAD MORE

वह जो वतन पर कुर्बान हो गए-अपराजिता कुमारीवह जो वतन पर कुर्बान हो गए-अपराजिता कुमारी

वह जो वतन पर कुर्बान हो गए वह जो वतन पर कुर्बान हो गए, आँखें नम और आवाम को जुबां दे गए, वतन पर सदके, जो अपनी जान दे गए, जवानियाँ जो देश पर, निसार कर गए। घर से निकले जो, सर पर बांधे कफन, नसों में इंकलाब, दिलों में मोहब्बतें वतन, कातिलों के मंसूबे, […][...]

READ MOREREAD MORE

महारथी कर्ण का वध-दिलीप कुमार चौधरीमहारथी कर्ण का वध-दिलीप कुमार चौधरी

 महारथी कर्ण का वध  कहते थे लोग जिसे सूत-पुत्र ; वह था कुन्ती का प्रथम सुपुत्र । पाण्डवों का था भ्राता ज्येष्ठ ; महा दानवीर और धनुर्धर श्रेष्ठ । होठों में अपने दबाकर यह राज़ बचाती रही कुन्ती अपनी लाज । देखती रही वह उसका अपमान पर दे न सकी अपनी पहचान । उस परमवीर […][...]

READ MOREREAD MORE