राखी-प्रीति कुमारी

राखी
सबसे प्यारा सबसे न्यारा,
राखी का त्योहार हमारा ।
भाई-बहन के स्नेह का बन्धन
रक्षा सुत्र और रोली चन्दन ।
आरती की थाली लेकर
बहन भाई का करती अभिनंदन ।
भैया से करती मनुहार
जब भी हम पर विपदा आये,
करना तुम उनका संहार ।
भाई स्नेह से रखता है फिर
बहन के सिर पर हाथ
ढेरों आशीष देता है और 
कहता है कभी छोरेंगे ना साथ ।
जीवन के हर सुख-दुःख में
हम साथ तुम्हारा देंगे ।
मेरे हिस्से की खुशियाँ भी,
तुम पर ही वर देंगे ।
बहन बलइया लेती है,
और करती है संकल्प,
भाई के मान-सम्मान का ध्यान
रखेगी हर-पल हर-क्षण ।
भाई-बहन के स्नेह का
यह चक्र निरंतर चलता है
सावन मास पूर्णिमा के दिन
राखी का त्योहार आता है ।

प्रीति कुमारी
कन्या मध्य विद्यालय मऊ

विद्यापति नगर समस्तीपुर

Leave a Reply

SHARE WITH US

Share Your Story on
info@teachersofbihar.org

Recent Post

%d