नारी-पद्यपंकज

नारी तूँ नारायणी – नीतू रानी

नारी तूँ नारायणी नारी तूँ नारायणी तुम हो शिव की अर्द्धांगिनी, तुम्हीं हो कृष्ण की राधा रानी तुम्हीं हो घर की महारानी, तुम हो सबका दुःख हारिनी तुम्हीं हो साक्षात…

आधुनिक नारी-रूचिका राय

आधुनिक नारी आधुनिक भारत की हूँ मैं नारी, नही अबला नही हूँ मैं बेचारी, पहुँच जाऊँगी मैं चाँद तक भी, इसके लिए करती हूँ मैं तैयारी। रीतियों का सदा निर्वहन…

नारी शक्ति है शक्ति की भरमार है -एम० एस० हुसैन

नारी शक्ति है शक्ति की भरमार है नारी शक्ति है शक्ति की भरमार है नारी तो रुपों की खूद अवतार है नारी को जहां समझती है अबला जिसने संभाली सृष्टि…

नारी की अंतर्कथा – लवली कुमारी

नारी की अंतर्कथा हां हां मैं नारी हूं, पहचान नहीं मिटने दूंगी। तप साधिका जैसी अनुसुइया विषपान कर गई मीराबाई यमराज से लड़ सतीत्व का बोध कराया सावित्री ने इतिहास…

मैं हूँ नारी-मधु कुमारी

मैं हूँ नारी मैं हूँ नारी एक धधकती सी चिंगारी प्रगति पथ की हूँ अधिकारी सृष्टि की सुंदर कृति हमारी मैं जग जननी,मैं पालनहारी मैं हूँ नारी……… हमने अपनी शक्ति…

नारी-ब्रह्मकुमारी मधुमिता सृष्टि

नारी शिव शक्ति का रूप है नारी सहनशक्ति की परिभाषा है नारी प्रेम की मूरत है नारी। घर को स्वर्ग बनाती रिश्तों में मिठास लाती खुशियों से घर महकाती दुःख…

नारी-जैनेन्द्र प्रसाद रवि 

नारी श्रद्धा से प्रेरणा पा मनु को आई जागृति।  नारी समाज की दामन से, जुड़ी भारत की संस्कृति।। नारी थी सीता, सावित्री, नारी अहिल्या, तारा है। इसी की ओट पाकर,…

SHARE WITH US

Share Your Story on
info@teachersofbihar.org

Recent Post