दिवस-पद्यपंकज

देशप्रेम- जैनेन्द्र प्रसाद रवि’

मनहरण घनाक्षरी छंद देश के सपूत करें, रोज दिन निगरानी, भारत की सीमा पर, सेना की निगाह है। दिन नहीं चैन मिले, रात नहीं नींद आती, देश की सुरक्षा हेतु,…

बालिका भ्रूणहत्या व्यथा-सुरेश कुमार गौरव

एक विचारणीय प्रश्न क्योंकि बालिका दिवस का मतलब समझना होगा। बालिका भ्रूणहत्या एक गंभीर समस्या है। इस पर रोक के प्रावधान भी हैं। पुरुष-स्त्री लिंगानुपात में असमानताएं देखे जा सकते…

मंगलमय दिन आजु हे-नीतू रानी

आप सबों को टीचर्स आॅफ बिहार के चतुर्थ वर्षगाँठ पर हार्दिक शुभकामना एवं बहुत- बहुत बधाई। विषय-वर्षगाँठ शीर्षक-मंगलमय दिन आजु हे। मंगलमय दिन आजु हे चतुर्थ वर्षगाँठ छैन आओल, गाबू…

मकर संक्रांति का महत्व- विवेक कुमार

आज पवन दिन है आया, राशि परिवर्तन संक्रांति कहलाया, दही चुरा और तिल है लाया, गुड़ में मिलकर मन को भाया, सुख समृद्धि घर-घर में छाया, रिश्तों में मजबूती लाया,…

मकर संक्रांति- संजीव प्रियदर्शी

स्वागत करें उत्तरायण रवि का हम सब मिलकर आज। और उड़ाएं नील गगन बीच पतंगों की परवाज। कहीं तिल की सौंधी सुगंध है, कहीं गुड़ की लाई। कहीं खिचड़ी, कहीं…

नमन युवा शक्ति विवेकानंद- एस.के.पूनम

मनहरण घनाक्षरी(पहचान है) राष्ट्र धरोहर कहूँ, कहूँ चिन्तक साधक, युवा किया अभिमान,दिलाया सम्मान है। नरेंद्र झुकाए शीश, मिला गुरु का आशीष, वतन करता प्यार,भारत का मान हैं। भक्ति है शक्ति…

शान है “हिंदी” -डॉ अनुपमा श्रीवास्तवा

जान है हिन्द जुबान है हिंदी प्यारे वतन की “शान” है हिंदी , शब्द-कोश की सबसे सुन्दर “मातृभाषा” का नाम है हिंदी । पूज्य है जितनी जन्मभूमि उतनी ही प्यारी…

SHARE WITH US

Share Your Story on
info@teachersofbihar.org

Recent Post