नये भारत की शक्ति- भवानंद सिंह

 नये भारत की शक्ति 

चाईना अब होगा बर्बाद
पंगा लिया है भारत के साथ,
भारत के आगे सब झुकता है
चीन की क्या है औकात ।

चीन से मेरा है कहना
भारत की शक्ति पहचानो,
मौका देख संभल जाओ तुम
नहीं संभले तो पछताओगे ।

ड्रैगन की है चाल ऐसा
धोखा करना नियत खोटा,
नियत अपना तुम सुधारो
सेना को वापस ले जाओ ।

किया अगर तुम अब दुस्साहस
हमारे सैनिको में है वो साहस,
आर पार की कर लेंगे हम
मिट जाओगे इस धरती से ।

सम्मान अगर तुमको है पाना
सम्मान करो उस समझौते का,
जो तुमने भारत से किया है
शांति जिससे बना रहता है ।

भारत की तुम बात मानो
दोस्ती से ही काम चला लो,
नहीं तो, भूगोल बदल जाएगा
इतिहास बनकर रह जाओगे ।

भवानंद सिंह 
रानीगंज, अररिया

Leave a Reply

SHARE WITH US

Share Your Story on
info@teachersofbihar.org

Recent Post

%d