मिशन दक्ष – स्नेहलता द्विवेदी ‘आर्या

मिशन दक्ष से जुड़कर शिक्षक, शिक्षा का सम्मान कर रहे। वर्ग के कमजोर बच्चों के सपनों को साकार कर रहे।। पाँच पाँच बच्चों को लेकर, सुंदर सुभग बिहान कर रहे।…

प्रकाश का परावर्तन – ओम प्रकाश

किरणें जो सतह से टकराए कहलाती हैं आपतित, टकरा कर लौटती किरणें कहलाती हैं परावर्तित.. हो सतह यदि चिकनी-समतल तो परावर्तन होता है नियमित, हो सतह रुखड़ी, उबड़-खाबड़ तो परावर्तन…

शिक्षा का उद्देश्य – जैनेन्द्र प्रसाद रवि’

पढ़ने से ज्ञान मिले दुनिया में मान मिले, जीवन से अज्ञान का मिटता है अंधकार। किए पर खेद करें किसी से न भेद करें, लोगों से करते सभी, सुसंस्कृत व्यवहार।…

पढ़ना है अधिकार मेरा-भोला प्रसाद शर्मा

पढ़ना है अधिकार मेरा जब निकली मैं बस्ता लेके रिंकी मुनियाँ रास्ता रोके क्यूँ तुम पढ़ना चाहती हो जरा मुझे भी कहते जा। पढ़ने से क्या होता लाभ जरा मुझे…

चित्रगुप्त-नीतू रानी “निवेदिता”

चित्रगुप्त सबसे पहले चित्रगुप्त का मतलब चित्र-का मतलब तस्वीर यानि फोटो गुप्त-गुप्त का मतलब अंदर की बात बाहर प्रकट न हो यानि गुप्त बात। जो-जो करते हैं अच्छे बुरे कर्म…

बैलगाड़ी-जैनेन्द्र प्रसाद रवि

बैलगाड़ी कच्ची सड़क की सबसे प्यारी, बैलगाड़ी है सबसे सुंदर सवारी। उबड़-खाबड़ रास्तों पर भी, शान से चलती बनाकर धारी।। आवागमन का था एकमात्र सहारा, राजा हो या कोई रंक…

करके सीखें-अशोक कुमार

करके सीखें आओ जोड़ की प्रकृति को जाने, मिलाने की प्रक्रिया को जोड़ माने। मूर्त से अमूर्त की ओर जाएं, बच्चे इसे कभी भूल न पाए।। घटाव किसे कहते हैं…

SHARE WITH US

Share Your Story on
info@teachersofbihar.org

Recent Post